बिहार: माइनिंग इंस्पेक्टर की शह पर बालू माफियाओं ने पत्रकार को किया अगवा, मारपीट कर तोड़ा मोबाइल – DollarJob

बिहार: माइनिंग इंस्पेक्टर की शह पर बालू माफियाओं ने पत्रकार को किया अगवा, मारपीट कर तोड़ा मोबाइल

[ad_1]

रोहतास जिले के बिक्रमगंज में अवैध बालू के कारोबार में प्रशासन व माफियाओं को किसी का हस्तक्षेप बर्दाश्त नहीं है. तभी तो काराकाट थाना क्षेत्र के सुकहारा गांव के राहुल ईंट भट्ठे पर खड़े पांच ट्रकों का वीडियो बनाने से भड़के माइनिंग इंस्पेक्टर ने मंगलवार को बालू माफियाओं से प्रभात खबर के स्थानीय प्रतिनिधि अशोक कुमार सिंह का अपहरण करवा दिया. अपहर्ताओं ने अशोक कुमार सिंह को लाल रंग की स्कॉर्पियो से अगवा कर लिया और मारपीट कर औरंगाबाद जिले के बारुण ले गये. जहां उसे मारने के लिए उसके गले में रस्सी बांध दी गई.

किसी तरह माफिया की चंगुल से हुए फरार

अपराधियों ने अशोक का मोबाइल फोन तोड़ दिया. अपराधियों ने जान से मारने की नियत से फायरिंग भी की. लेकिन, वे किसी तरह वहां से भाग निकले. बाद में बालू माफियाओं में से एक शशिकांत यादव और एक अन्य लड़का अशोक कुमार सिंह के साथ बाइक पर बैठ कर राहुल को ईंट भट्ठा सुखरा ले गये. घायल अशोक का इलाज पीएचसी में कराया गया है. उसकी गर्दन पर रस्सी से कसने के निशान और सिर व अन्य स्थानों पर चोट के निशान थे.

माइनिंग इंस्पेक्टर ने फोन पर दी वीडियो बनाने की सूचना

सबसे बड़ी बात कि माइनिंग इंस्पेक्टर राहुल कुमार ने स्वीकार किया कि पत्रकार पर हमले की जानकारी होने के बाद साथ की पुलिस को भेजा गया था. लेकिन, इसके बाद क्या हुआ? यह बता नहीं सके. जबकि जख्मी अशोक कुमार सिंह ने कहा कि जब मैं ईंट भट्ठे पर गया, तो वीडियो बनाने के दौरान माइनिंग इंस्पेक्टर ने किसी को मोबाइल पर सूचना देकर कहा कि पत्रकार को मैनेज करो. वह वीडियो बनाकर ले गया है.

करीब ढाई घंटे बाद इंस्पेक्टर ने निदेशक को दी सूचना

जख्मी अशोक कुमार सिंह ने बताया कि मंगलवार की सुबह करीब आठ बजे जानकारी मिली कि गांव के राहुल ईंट भट्ठे पर पांच ओवरलोड ट्रकों को खनन निरीक्षक ने पकड़ा है. मैं वहां पहुंचा, तो ट्रकों का वीडियो बनाया. इस घटना के बाद 10.23 बजे माइनिंग इंस्पेक्टर ने माइनिंग डायरेक्टर को पांच ट्रकों के पकड़े जाने की सूचना दी, जैसा कि माइनिंग डायरेक्टर अनिल कुमार ने बताया. तो, इतनी देर तक इंस्पेक्टर ने ट्रकों के पकड़े जाने की सूचना मुख्यालय को क्यों नहीं दी?

ईंट भट्ठा मालिक ने कहा- मुंशी से मिली सूचना कि भट्ठे पर खड़े हैं ट्रक

राहुल ईंट भट्ठा मालिक सह सांसद प्रतिनिधि सह पूर्व मुखिया सूर्यवंश सिंह ने कहा कि मुझे भट्ठे पर पांच अनजान ट्रकों के खड़ा होने की सूचना मुंशी से मिली. मैं वहां पहुंचा, तो देखा कि खनन निरीक्षक के साथ पुलिस बल मौजूद थे. तभी पत्रकार अशोक सिंह वहां पहुंचे और फोटो व वीडियो बनाने लगे. बाद में जब वह वहां से निकले, तो पता चला कि उनका अपहरण हो गया है.

माफियाओं का अगला टारगेट नासरीगंज प्रतिनिधि

बालू माफियाओं का अगला टारगेट नासरीगंज के प्रभात खबर प्रतिनिधि राहुल मिश्रा हैं. ऐसा दर्ज प्राथमिकी में अशोक कुमार सिंह ने कहा है. उन्होंने कहा कि लाल स्कॉर्पियो में मुझे जबरन बैठाने के बाद अपराधी मुझे जान मारने के साथ राहुल मिश्रा को भी सबक सिखाने व ठिकाना लगाने की बात कर रहे थे. गौरतलब है कि नासरीगंज में बड़ा खनन क्षेत्र है. नासरीगंज के कई गांव सोन नदी के किनारे हैं और इसी क्षेत्र से अवैध बालू की ढुलाई होती है, जिसका खबर प्रभात खबर प्रकाशित करता रहा है. इन्हीं कारणों से प्रभात खबर प्रतिनिधि बालू माफियाओं के निशाने पर आ गये हैं.

पत्रकार के साथ मारपीट व अपरहण के मामले में तीन लोगों माइनिंग इंस्पेक्टर राहुल कुमार, लालजी सिंह यादव पिता देवमुनी सिंह यादव व शशिकांत यादव को नामजद करते हुए कुछ अज्ञात के विरुद्ध प्राथमिकी 76/24 दर्ज कर लिया गया है. अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए प्रयास किया जा रहा है.

थानाध्यक्ष फुलेंद्र चौधरी

मामले की जांच की जा रही है. किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा. इधर माइनिंग डायरेक्ट अनील कुमार ने कहा कि पांच ट्रकों के पकड़े जाने की इंस्पेक्टर राहुल ने 10.23 बजे सूचना दी थी. किसी तरह के मारपीट या प्राथमिकी होने की मुझे जानकारी नहीं है.

एसडीपीओ कुमार संजय

[ad_2]

Leave a Comment

x